Dard Bhari Shayari

Mein Aur Kya Likhu Tere Liye Tujhe Dehkta Hu To Meri Sanse Tham Jati Hai Tujhe Se Itna Pyar Karta Hu Mein Ki Tu Kahe De To Abi K Abi JAAN De Du Main Tere Liye #SAGAR_R

आज जिस्म मे जान है तो देखते नही हैं लोग, जब रूह निकल जाएगी तो कफन हटा-हटा कर देखेंगे लोग

जब तुम्हें गैरों से बात करते हुए देखा तो बहुत दुख हुआ, फिर अचानक याद आया कि हम कौन से तेरे अपने हैं?

आशियाना बनायें भी तो कहाँ बनायें, बताओ ज़रा....... जमीनें महंगी हो चली हैं, और दिल में लोग जगह देते नहीं।।

कहते है आँसू सब से कीमती तोहफा है, शायद इसीलिए जो दिल के करीब होते हैं, वही सबसे ज्यादा देते हैं....!

दर्द को भी आधार कार्ड से जोड़ दो जनाब, जिन्हें मिल गया हो उन्हें दोबारा ना मिले...!

जिंदगी की बुरी घड़ियों में कौन किसका होता है ? परछाई भी साथ छोड़ देती है जब अंधेरा होता है--!!

अगर तुम्हे न देखु, तो ये दिल बेचैन हो जाता है; पर जब तुम देख क भी अनदेखा करदो , तब फ़ो मेरा .ही चैन खो जाता hai

Nazaar chahti hai didaar krna Dil chahta hai pyaar krna Kya battaye iss dil ke alaam ko Naseeb me likha hai intezaar krna...

MERE JANAZE KE PICHE, SARA JAMANA NIKLA, PAR WOH NAHI NIKLA, JISKE LIYE MERA JANAZA NIKLA, WOH ATA BHI KAISE MERE JANAZE PR, QKI, MERE JANAZE KE PICHE USKA JANAZA NIKLA............

Wo khush hai par hum aaj bhi unke liye rote hai Kabhi mud ke dekh piche Hum aaj bhi tere sath ke liye tadapte hai

Teri bewafai aur mere dil ka tut Jana . . . Khush ho jaao jeet gye tum #broken

उजड़ी हुई जिंदगी हम फिर से बसायेंगे, आज नही तो कल हम भी मुस्कुरायेगे, बेशक तुम मत होना उस जिंदगी में, हम भी किसी और को अपना बनाएँगे।।

सुना है जबने मे सिकायेते करती फिरती हो हमारी, हमारा कशुर तो बता दे, अब क्या शहर छोड दे हम, एक हि तो जिंदगी है जिने दे हमारी जिने दे हमारी।।।

वो बदनाम होने से बच गया.. वो बदनाम होने से बच गया.. जहाँ दर्द था वही ज़ख्म मिल गया!