Dosti Shayari

Qismat main agar mulaqat ka mauqa mila tu milenge insha allah ae dosto, Agar humari maut ki qabar aptak mile tu duwa main hamesha yaad rakhna ea dosto'

Sadiyo Se Ek Sapna Hai, Kaho Pura Karoge Tum..? Bhool Jao Mere Siwa Sab Kuch, Kaho Aisa Karoge Tum..? Nahi Kuch Or Tamana Ab, Ke Bas Mere Ho Jao Tum, Kabhi Na Chor Ke Jaoge, Kaho Aisa Karoge Tum..? Faqat Ek Lafz Sunne Ko, Kayi Barson Se Tarsi Hu, Mujhe Apna Bana Lo, Kaho Aisa Karoge Tum..?

Posted On: 08-03-2020

“सूरज के सामने रात नहीं होती, सितारों से दिल की बात नहीं होती, जिन दोस्तों को हम दिलसे चाहते है, न जाने क्यों उनसे रोज़ मुलाकात नहीं होती.”

Posted On: 08-03-2020

लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है , लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है, लोग दुनिया मे दोस्त देखते है, हम दोस्तो मे दुनिया देखते है

क्यो लड़ते हो एक दूजे के लिए अरे लड़ना ही है अगर तो लड़ो अपनी मोहबतों के लिए जिस पर लड्कीया भी अपना दामन बिछा देंगी हम जैसे लड़को के लिए ।

किसी का दिल तोड़ना इतना आसान नही . तेल निकल जाता है अच्छे अच्छों का वही । ................

Posted On: 10-01-2020

Zindagi main saath bhi Zindagi ke baad bhi, Saccha Hain wo dost jo har dum rehta saath bhi, Jab hum udaas hote Hain tho wo Hume hasata Hain, Agar koi Hume maare tho wo usse lad jaata Hain, Dosti nibhana sikhna Hain tho unse sikhiye Jo dosti nibhate Hain, Warna ese bhi dost Hain Jo mushkil waqt main chhod ke chale jaate hain

Dosti ek nagma hai gungunane k liye..dosti ek saaz hai sbko sunane k liye..hazaro ki jarurt nhi ek dost hi kafi hai sari zindagi hasane k liye...

दोस्तों की महफिल में बैठे हम सारे गम भुला गए गिरते थे जो हम हाथ पकड़ संभलना सिखा गए वह दोस्त ही तो थे जो हमें वह जीना सिखा गए पीते थे खुद ओ बियर हमको सोडा पिला गए पार्टी तो देते थे अपने नाम के पर बिल हमारे नाम पड़ गए लगा जो चोट मुझे कभी दर्द उनको होता था रोता हूं जो मैं कभी उनकी आंखों से आंसू बहता था ए दोस्त तो ही है जो हमको गमों में हंसना सिखा गए

Posted On: 27-08-2019

किसी ने मुझसे कहा कि दोस्त कमिना होता है। मैंने कहा। माना कि दोस्त कमिना होता है। लेकिन ऐसे दोस्तो की दोस्ती में कमी ना होता है

Posted On: 13-08-2019

16.हिचकियाँ क्यों मुझे आने लगी है फ़िज़ाओं से भी सिसकिया आने लगी है ये सोचकर दिल है बहुत खुश की याद मेरी भी किसी को आने लगी है

Posted On: 13-08-2019

15.दोस्त तेरी दोस्ती पर नाज करते है हर वक़्त मिलने की फरियाद करते है हमें नहीं पता घरवाले बताते है की हम नींद में भी आपसे बात करते है

Posted On: 13-08-2019

14.फिर वही दिन होगा फिर वही रात होगी लेकिन ना जाने फिर कब मुलाकात होगी मगर करते रहना एस मेस तभी तो दिल से दिल की बात होगी

Posted On: 13-08-2019

13.कशिश तो बहुत है मेरे प्यार में लेकिन कोई है पत्थर दिल जो पिगलता नहीं अगर मिले खुदा तो मांगूंगी उसको सुना है खुदा मरने से पहले मिलता नहीं

Posted On: 13-08-2019

12.लोग कहते है तुम क्यों अपनी मोहब्बत का इजहार उनसे नही करते मैंने कहा जो लफ्जो में बयां हो जाये सिर्फ उतना प्यार हम उनसे नहीं करते