Attitude Shayari

Posted On: 22-04-2021

"रात नहीं सपने बदलते हैं, मंजिल नहीं कारवां बदलता है, जज़्बा रखो हमेशा जीतने का, क्यूंकि नसीब बदले न बदले, लेकिन वक्त ज़रूर बदलता है I

Click here to login if already registered or fill all details to post your comment on the Shayari.

First Name*
Last Name*
Email Id*
mobile number*