Hindi Shayari

Posted On: 31-05-2021

मत फेक पत्थर पे पानी इसे भी कोई पिता होगा, जीना है तो मुस्कुरा के जियो तुमको भी देखकर कोई जीता होगा ।

Posted On: 17-05-2021

Posted On: 16-05-2021

Posted On: 05-04-2021

आग के पास कभी मोम को लाकर देखूं हो इज़ाज़त तो तुझे हाथ लगाकर देखूं दिल का मंदिर बड़ा वीरान नज़र आता है सोचता हूँ तेरी तस्वीर लगाकर देखूं

Posted On: 05-04-2021

दिलो की बात करता है जमाना, और मोहब्बत आज भी चेहरों से शुरू होता है।

Posted On: 05-04-2021

Posted On: 03-04-2021

Posted On: 02-04-2021

दिलो की बात करता है जमाना, और मोहब्बत आज भी चेहरों से शुरू होता है।

Posted On: 28-03-2021

आग के पास कभी मोम को लाकर देखूं हो इज़ाज़त तो तुझे हाथ लगाकर देखूं दिल का मंदिर बड़ा वीरान नज़र आता है सोचता हूँ तेरी तस्वीर लगाकर देखूं

Posted On: 28-03-2021

राज़ जो कुछ हो इशारों में बता देना हाथ जब उससे मिलाओ दबा भी देना नशा वेसे तो बुरी है, मगर Brajesh से सुननी हो तो थोड़ी सी पिला भी देना

Posted On: 28-03-2021

गुलाब, ख्वाब, दवा, ज़हर, जाम क्या क्या हैं में आ गया हु बता इंतज़ाम क्या क्या हैं फ़क़ीर, शाह, कलंदर, इमाम क्या क्या हैं तुझे पता नहीं तेरा गुलाम क्या क्या हैं

Posted On: 22-03-2021

फूलों की याद आती है काँटों को छूने पर रिश्तों की समझ आती है फासलों पे रहने पर कुछ जज़्बात ऐसे भी होते हैं जो 😢आँखों से बयां नहीं होते वो तो महसूस होते हैं ज़ुबान से कहने पर। 💔 😢

Posted On: 22-03-2021

❤️ पतिया ना हिले डालि या ना हिले कुछ ऎसी हवाएं होती है । और नज़रों से भी पिलाई जाती है कुछ ऎसि भी दवाएं होती हैं।❤️

Posted On: 20-03-2021

चाँद सितारों से तेरी बात करते हैं, तनहाईयों में तुझे याद करते हैं, तुम आओ या ना आओ मर्ज़ी तुम्हारी, हम तो हरपल तुम्हारा इंतजार करते हैं।

Posted On: 19-03-2021

फूलों की याद आती है काँटों को छूने पर रिश्तों की समझ आती है फासलों पे रहने पर कुछ जज़्बात ऐसे भी होते हैं जो 😢आँखों से बयां नहीं होते वो तो महसूस होते हैं ज़ुबान से कहने पर। 💔 😢