Bewafa Shayari

Posted On: 23-05-2022

जी चाहता है कि अपने दिल के दर्द को कोरे काग़ज़ पर लिखकर उतार दूँ, फिर सोचता हूँ कि इसे पढ़ेगा कौन प्यार तो अंधा होता है। । By:- Ravi Nishayar

Click here to login if already registered or fill all details to post your comment on the Shayari.

First Name*
Last Name*
Email Id*
mobile number*