Chilo na amar jana bhalo bashai eto jala sapno jay benge chure joma roy dukho beta

Posted On: 04-05-2019

आप हंसो तो खुशी मुझे होती है, आप रूठो तो आँखे मेरी रोती है, आप दूर जाओ तो बेचेनी होती है, महसूस करके देखो प्यार मे ज़िंदगी कैसी होती है!! K.k.g.

Posted On: 24-04-2019

Tum Puchte the na ki Kitna Pyar Hai Mujhse Lo Ab gin lo Boonde Barish Ki... I love you yaaar

Posted On: 24-04-2019

Main Kyon pukaru use ki laut aao.... Kya use Khabar Nahi Ki..... Kuch nahi mere paas Uske Siway

Posted On: 29-03-2019

darta hu tere ruth jane se ki kase manayege tujhe, u to or bhi h manane ko tujhe gar hum ruth gaye khud se to kaise manaoge hume.

Posted On: 29-03-2019

na jane q aj man me halchal huyi h phir kis ne aj dil ko dhadkaya h,milu to mein us khuda ko jisne chand ko is zmeen pe utara h.

Posted On: 29-03-2019

na jane q aj man me halchal huyi h phir kis ne aj dil ko dhadkaya h,milu to mein us khuda ko jisne chand ko is zmeen pe ko utara h.

Posted On: 06-03-2019

Teri lafzoo ki ahmiyat meri unn dhakano ki tarah hai jinki innayat bhi app aur ibbadat bhi aap

Posted On: 11-02-2019

चले आओ किसी की जुल्फ का बादल बुलाता है तुम्हारी याद में हो कर कोई पागल बुलाता है, बुलाती है किसी की संतली बाहों की बेचैनियां किसी की आंख का भीगा हुआ काजल बुलाता है।।

Posted On: 11-02-2019

कसम कैसी भी हो सब तोड़ कर आता रहूंगा मैं चाहतों की दुनिया छोड़ कर आता रहूंगा मैं, भले ही कैद कर ले दुनिया की सारी नफरतें मुझे बुला कर देख लेना दौर कर आता रहूंगा मै।

Posted On: 11-02-2019

कि तेरा चेहरा लगे अप्सरा की तरह मैं गगन की तरह तू धरा की तरह, अदाओं का पेट्रोल छिलकों नहीं वरना जल जाऊंगा मैं बोधरा की तरह।।

Posted On: 11-02-2019

सामने देख कर मुंह ना मोड़ा करो दिल ये नाजुक है उसको ना तोड़ा करो, रेशमी डोरिया कैद कर लेती हैं अपनी जुल्फें खुली यू ना छोड़ा करो।

Posted On: 01-02-2019

देख्नलाई आतूर छन् यी आखाँ सुन्नलाई आतूर छु तिम्रो भाका भेट्न पाएनी हुन्थ्यो जहिले तिमीलाई जोड्न मन थियो मेरो मन तिमिलाई

Posted On: 31-01-2019

सिलसिला यूं ही चलने देंगे शायरी का, हम भी तो देखें....... कब तक मेरे अल्फाज तेरे दिल तक नहीं पहुंचते।।

Posted On: 29-01-2019

मेरा मन ये कहता है कह दूं मैं जमाने से एक चुभन सी होती इश्क को छुपाने से, जब से प्यार कि मैंने एक शमा जलाई है तब से डर नहीं लगता आंधियों के आने से।।