Anmol Vachan

Posted On: 27-07-2020

Hshnankgsnna

पल पल को बदलता है रंग गिरगिट की तरह वक़्त ये जिसके हाथों से निकल जाए फ़िर उसका ना ताज रहे ना तख्त ओ वक़्त हाय वक़्त तू कहां कहां पहोंच गया बे वक़्त फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA)

जिन कविता गीत ग़ज़ल शेर नज़्म दोहे वगैरा वगैरा का मतलब आम आदमी को समझाना पड़ जाए अय सी किताबों को फ़ाड़ कर कचरे के डिब्बों में फेक देना चाहिए फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA)

कबीरा गरीबन तक नहीं पहुंच पाए आप के विचार आप के दोहे बस अमीरन ही गाये अमीरन ही सुने अमीरन ही समझे आप के दोहे फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA)

कौन अच्छा है कौन बुरा है ये तो ख़ुदा जाने मेरा दिल तो सब को ही भला मैने फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA)

हम खुद के नहीं हो सके और ज़िद दुनियां को अपना बनाने की थी

समाज में दहशत फ़ैली हैं और फ़ैला हुआ है डर अब सब को लौट कर आना होगा अपने अपने घर फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA)

Posted On: 16-07-2020

कोई तो है जो फैंसला करता है पथ्थरों के मुकद्दर का, किसे ठोकरों पर रहना है और किसे भगवान् होना है !!

Posted On: 18-06-2020

मुझे रिश्तो की लंबी कतारोँ से मतलब नही ,कोई दिल से हो मेरा, तो एक शख्स ही काफी है..

Posted On: 10-06-2020

सर झुकाने से नमाज़ें अदा नहीं होती, दिल झुकाना पड़ता है इबादत के लिए..

हमे उन लोगों से नही डरना चाहिए जिन लोगों ने हजार कलाओं का अध्ययन किया हो। लेकिन उन लोगों से डरना चाहिए जिसने एक कला का अध्ययन हजार बार किया हो।

I do not trust the few lines of hands. I always trust myself. You do too because everything happens not by streaks, but by hard work

जिन्दगी में एक शत्रू होना बेहद जरूरी होता है । क्योंकि इन्सान बिना शत्रू के कभी कामयाब नहीं हो सकता।

Posted On: 03-06-2020

तमन्नाओ की महफ़िल.. तो हर कोई सजाता है. पूरी उसकी होती है.. जो तकदीर लेकर आता है..!!

Jindagi mein agar kaamyabi hasil karni ho to Chalenge lena seekh lo