Anmol Vachan

Posted On: 17-03-2021

हिल रहा था पानी का #कलश कीचड़ से सनी उसकी देह पर भीगे आँचल से झलकते अंग जैसे हमारी सभ्यता का शव हो! कभी गाये थे उसने कलश की पवित्र गरिमाओं के गीत अँजुरी मे भर मंत्र की तरह, और इन सभ्यताओं ने सुनी थी ओस की टप टप को संगीत में चमकते, गरजते, बरसते हुए भीगी रातों में पानी की धज को!

Posted On: 17-03-2021

घायल तो यहाँ हर एक परिंदा है , मगर जो फिर से उड़ सका वहीं ज़िन्दा है... :)

Posted On: 17-03-2021

जय श्री पितरेश्वर हनुमान 🚩🚩🚩

Posted On: 16-03-2021

चनरी श्री विष्णु महायज्ञ में सम्मिलित होते हुए

Posted On: 16-03-2021

करम प्रधान विस्व करि राखा। जो जस करई सो तस फलु चाखा।। ईश्वर ने कर्म (Deed) को ही महानता दी है। उनका कहना है कि जो जैसा कर्म (Work) करता है उसको वैसा ही फल मिलता है। II राधे राधे बोलना पड़ेगा II

Posted On: 16-03-2021

राम रसायन तुम्हरे पासा। सदा रहो रघुपति के दासा।।

Posted On: 15-03-2021

ज़िन्दगी सिगरेट की तरह होती है, Enjoy करो वरना, सुलग तो रही ही है, खत्म तो वैसे भी हो जायेगी ।

Posted On: 15-03-2021

परवाह ना करो चाहे सारा ज़माना खिलाफ हो.. चलो उस रास्ते पर जो सच्चा और साफ़ हो..! #शुभसंध्या 💞

Posted On: 15-03-2021

ये तीन मंत्र है जीवन के... 1. प्रसन्नता मैं कभी वचन ना दे 2. क्रोध में कभी उत्तर ना दे 3. दुख में कभी निर्णय ना लें

Posted On: 11-03-2021

Posted On: 24-01-2021

जिसे "मैं" की हवा लगी उसे फिर ना दवा लगी ना दुआ लगी

Posted On: 22-12-2020

चाम कि तो भतेरी धोली हाडं ह ............ darling.............. काला तो भितरले म पाव ह

Posted On: 07-12-2020

कभी-कभी इंसान सच में थक जाता है; खामोश रहते-रहते, दर्द सहते सहते; सब्र करते-करते, उम्मीदें रखते रखते; रिश्ते निभाते निभाते, सफाईयां देते देते; और अपनों को मनाते मनाते..!!

Posted On: 02-12-2020

कौन लिखता है शायरी यहां like की चाहत में... यहां तो सुकून बरसता है... जब कोई एहसासों को पड़ता है..!!