Hindi Shayari

Posted On: 26-07-2017

वो जिसकी याद मे हमने खर्च दी जिन्दगी अपनी, वो शख्श आज मुझको गैर कह के चला गया।

Posted On: 26-07-2017

दीवाना उस ने कर दिया एक बार देख कर, हम कर सके न कुछ भी लगातार देख कर।

Posted On: 26-07-2017

कश्ती के मुसाफिर ने समन्दर नहीं देखा, आँखों को देखा पर दिल मे उतर कर नहीं देखा, पत्थर समझते है मेरे चाहने वाले मुझे, हम तो मोम है किसी ने छूकर नहीं देखा।

Posted On: 06-07-2017

कर देता बर्बाद, छीन कर खुशियाँ सारी छोड़े ले कर जान, इश्क है वह बीमारी

Posted On: 24-06-2017

इज़हारे मुहब्बत पे अजब हाल है... आँखें तो रज़ामंद हैं, लब सोच रहे हैं

Posted On: 26-12-2016

मेरी तो सुनता ही नही ऐ दिल तूं पर.... इनकी तो सुन ले .... ।

Posted On: 25-09-2016

हवा चुरा कर ले गयी थी मेरी गजलों की किताब ! देखो, आसमां पढ़ के रो रहा हैं , और नासमझ जमाना खुश हैं कि बारिश हो रही हैं !!

Posted On: 22-09-2016

न जाने क्या कशिश है उस की मदहोश आँखों में , नज़र अंदाज़ जितना करो, नज़र उसपे ही पड़ती है...

Posted On: 15-09-2016

कुछ खूबसूरत पल याद आते हैं, पलकों पर आँसु छोड जाते हैं, कल कोई और मिले हमें न भुलना क्योंकि कुछ रिश्ते जिन्दगी भर याद आते हैं|

Posted On: 15-09-2016

वो नहीं आती पर निशानी भेज देती है ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है कितने मीठे हे उसकी यादो के मंज़र। कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है!!

Posted On: 15-09-2016

वो तो अपनी एक आदत को भी ना बदल सका.. जाने क्यूँ मैंने उसके लिए अपनी जिंदगी बदल डाली

Posted On: 15-09-2016

सुना था.. मोहब्बत मिलती है, मोहब्बत के बदले | हमारी बारी आई तो, रिवाज हि बदल गया ||

Posted On: 15-09-2016

बड़े शौक से बनाया तुमने मेरे दिल मे अपना घर जब रहने की बारी आई तो तुमने ठिकाना बदल दिया।

Posted On: 15-09-2016

वो हमें भूल भी जायें तो कोई गम नहीं, जाना उनका जान जाने से भी कम नहीं, जाने कैसे ज़ख़्म दिए हैं उसने इस दिल को, कि हर कोई कहता है कि इस दर्द की कोई मरहम नहीं।

Posted On: 15-09-2016

रोते रहे तुम भी, रोते रहे हम भी, कहते रहे तुम भी और कहते रहे हम भी, ना जाने इस ज़माने को हमारे इश्क़ से क्या नाराज़गी थी, बस समझाते रहे तुम भी और समझाते रहे हम भी।