Hindi Shayari

Posted On: 08-04-2020

Thujko maine chaaha tha iss qadar, Pagal tha main jo duniya se tha Bekhabar.

Posted On: 07-04-2020

Uski adat si hogyi h muje Uski adat si hogyi h muje Jase nasha sa Chad jata h jam pine ke bad .

Posted On: 04-04-2020

नजरें मिली प्यार हो गया, दिल मिला इकरार हो गया, मैं क्या बताऊँ यारो उनके बिना मेरा ज़िन्दगी बेकार हो गया।

Na pa saku, Na bhula saku, Tu meri majburi sa hain, Tere bin jee rahe hain hum, Aur jee bhi lenge, Fhir bhi tu jaruri sa hain............

जरा सी गलतफहमी पर ना छोडो किसी आपने का दामन कयोकी जिंदगी बीत जाती है किसी को आपना बनाने मे 🙏🙏🙏 plsss yr☹️ Akash mehra pb06

Posted On: 18-02-2020

Khamosh kar diya hai tere Alfaazo ne Kuchh iss Kadar ki ab sochte h hum Ajnabee Hi rehte to theek tha......

Posted On: 28-01-2020

जिंदगी में लिए हुए सारे फैसले सही ही हो, ये ज़रूरी तो नहीं , पर कम से कम ग़लत हो । ये जरू़री है ।

Posted On: 12-01-2020

Attitude ka nasha hum par khoob chada hai Dil hamara bohot bada hai tameez se baat kar chote tere aage tera NAWAB khada hai.....

Posted On: 08-01-2020

"फसल नहीं हुई" क्या करूं की मेरी मेहनत सफल नहीं हुई, कि इस बार भी खेत में वो फसल नहीं हुई । बिन बात भी जलते थे कुछ लोग मुझसे, पर इस बार किसी को कोई जलन नहीं हुई । लोग हिसाबे जमाना बदलते गए लिबाज़ अपने, पर हमसे कभी किसी की नकल नहीं हुई । यूं तो कोशिशें बहुत की जिंदगी में हमने, पर जिंदगी अपनी फिर भी सरल नहीं हुई । वो तो पूंछ लेते हैं मेरा हाल आज भी दोस्तों से, पर उनकी जिंदगी में हमसे कभी दखल नहीं हुई । कोई भी घोल कर पी जाए ऐसा मुमकिन नहीं है, हालत पतली है पर इतनी भी तरल नहीं हुई । यूं तो रोज डसते है आस्तीन के सांप मुझको, पर मुझे अब भी समझ इसां की असल नहीं हुई । पड़ गई है झुर्रियां जिम्मेदारी निभाने में, वरना जवानी में हमारे इतनी भी ढलन नहीं हुई । क्या किया क्या न किया ये तो याद नहीं मुझको, पर फलक पे जाने की उम्मीद अभी दफन नहीं हुई । छोड़ो नफरतें कि अभी प्यार की जरूरत है, याद रख कि जिंदगी किसकी यहां कफ़न नहीं हुई । "प्रवीण"

Woh Rooth Kar Kehti Hai Humse
Tumhara To Mel-Jol Mehenga Ho Gaya Hai
Us Pagli Ko Kaun Samjhaye
Ke Petrol Mehenga Ho Gaya Hai

Posted On: 31-10-2019

Tum meri taraf dekhna chhodo toh mai batau Tum meri taraf dekhna chhodo toh mai batau Har ek shakas tumhari hi taraf dekh rha Hai

Posted On: 31-10-2019

AAI KHUDA KHUCHH RASTA DIKHA MANJIL TO SAMNE HAI TO CHALNA SIKHA

कास में समंदर की लहरें होता और तू होती गंगा की धारा प्यास बुझाने को तू मेरी छोड़ आती अपना किनारा जो तू कर ले निश्चय खुद से खुद में मिलने को क्या हस्ती खड़ा हिमालय रोक सके तुझको आ भर दे तू मुझको उतर मेरी गहराई में तू मेरी भरने की वजह बन मैं बनू तेरा किनारा आ बुझा जा तू मेरे प्यास को ले अपने प्रेम रस धारा काश मैं समंदर की लहरें होता और तुम होती गंगा की धारा

Posted On: 04-10-2019

Har din ''sham'' koa apane chand ka inthajar rahetha hai, Aur "muje" mere apani mehbuba ka inthajar rahetha hai.

Posted On: 04-09-2019

Tumhare bare mein jitna kam sochna chahu Uthna hi jyada teri yaad aati hai.