Bewafa Shayari

Posted On: 07-07-2019

*...सपना है आॅखो में,,, मगर नींद कहीं और है।* *दिल तो हैं जिस्म में,,, मगर धड़कन💕 कहीं और है।।* *कैसे बयान करें अपना हाल - ए - दिल❤* *जी तो रहें हैं,,, मगर जिंदगी कहीं और है।*

Posted On: 07-07-2019

तुझसे मिलने की सजा देंगे तेरे शहर के लोग ये वफाओं का सिला देंगे तेरे शहर के लोग कह के दीवाना मुझे मारते हैं सब पत्थर और इसके क्या है इसके सिवा देंगे तेरे शहर के लोग ✍✍✍✍jakhme dilip

Posted On: 07-07-2019

तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो, दिल मेरा था और धड़क रहा था वो। प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है, आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो। Shayari Puja Kumari

Posted On: 07-07-2019

Yea dil

Posted On: 07-07-2019

कितना खूबसूरत सा धोखा था जो तूने मेरे दिल को दिया एक पल में तूने सारी खुशियां छीन ली और सारी जिंदगी का दर्द दिया शुक्रिया तुम्हारा शुक्रिया प्यार में सिर्फ धोखा ही मिलता है मैंने रब से मांगा था जो दुआ वह रब ने धूल में उड़ा दिया एक अपना रब था एक अपना तू था पर जब आंखें खुली तो दोनों ही हकीकत वाकिब दिया

Posted On: 07-07-2019

हर तड़पते हुए लम्हे बिताए है हमने हर खुशी पर गम के आंसू बहाए हैं हमने बर्बादी का जश्न तो जमाना मनाते रहे अपने ही जख्मों पर नमक लगाया है हमने शायर जख्मी दिलीप

Posted On: 07-07-2019

ना हम रहे दिल लगाने के काबिल ना दिल रहा गम उठाने के काबिल लगे उसके यादों के जख्म दिल पर इस कदर ना छोड़ा उन्होंने फिर हमे मुस्काने के काबिल शायर Jakhmi Dilip

Posted On: 02-07-2019

zamane ko burai se zyada pyar se dar lagta hai

Mai laila bhi banjaungi to majnu wala kaam to kar, Ye tan man dhan aukaat ye sb badi badi bateen chor, Apni wafa mere naam too kar!!LZ

Kisi din tere nazro se door hojaenge hum,Door fizaaon me kahi kho jayenge hum, Mere yaado se lipatke rone aaoge tum, Jab zameen ko odhke sojaenge hum Its my real shayri LZ

Dil toota to ek awaaz aayi, Cheer ke dekha to ek cheez nikal aayi,, Socha kya hoga is khali dil ka, Jhaak ke dekha to tumhari tasveer nazar aayi// LZ

Ae dil mat kar itni muhabbat kisise, Pyar me mila dard tu sah nahi payega , Tu tootkar bikhar jayega apno ke hatho se,,kisne toda ye bhi kisi se kah nahi payega// Lavi

Zindagi ko mene thukra diya hota, Khudko bhi meeta diya hota, Is dil me yaade hai tumhari, Varna is dil ko bhi jala diya hota@h Lavi Zeenat

Ek dil mere dil ko zakham de gaya , Zindagi bhar jeene ki kasam de gaya, Lakho me se ek fool chuna tha humne, Jo kato se bhi gahri chughan degaya Its my real heart saying Lavi Zeenat Khan

Ab mujhe takleef nahi hoti ,chahe mujhe kitni bhi uchaayo se giraya jaye Kuki mujhe un hathon ne dhakka diya hai ,jinpe mai khudse zyaada bharosa karta tha//. Lavi Ahmad Khan L/Z