Latest Shayari

Mar kar jism se jab meri rooh mujhse roothi thi Jitni bhi kitaabey padi thi sab jhoothi thi

Posted On: 22-11-2020

Mere Dil ka Dard kisne dekha hai Hume toh tadapte sirf uss rab ne dekha hai Hum Tanhahi mein baait kar rote hai Logo ne toh bas hume akshar haste dekha hai

मै अपने अधूरे सपने में आज भी मदहोश हूँ , स्वार्थ नहीं था आपना कोई इसीलिए खामोश हूँ...✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

Adami agar mar bhi jaye toh Zindagi ka Safar kabhi rukta nahi Zindagi ka carvaan chalta hi rahta hai Woh maut ke aagey kabhi jhookta nahi

आदमी अगर मर भी जाए तो ज़िंदगी का सफर रुकता नहीं ज़िंदगी का कारवां चलता ही रहता है वोह मौत के आगे कभी झुकता नहीं

सबकी खुशी ढूंढते ढूँढते , मेरे ख़्वाबो ने खुदखुशी कर ली...✍️ #Miss_you_dhanno ~भाई का छोटा भाई

मेरी खामोशी ही गंवाह इस बात की कि मेरी जिंदगी में तेरी जगह और कोई नहीं ले सकता।।

अपना ख्याल रखना , मै वापस शहर आ रहा हूँ....✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

साहब थोड़ा सुनो मेरी बात अब मैं जा रहा हूँ , सुनो दोस्तों मैं सपनो का शहर रीवा आ रहा हूं..... ✍️ ~भाई का छोटा भाई

ज़िद्दी हूं आखिर थक कर गिर ही जाऊंगा , दुख सहते सहते किसी दिन मर ही जाऊंगी....✍️ ~भाई का छोटा भाई

जिद जुनून और जज्बातों से भरा हूं , साहब मैं बहुत अच्छा और अच्छा खासा बुरा हूं....✍️ ~भाई का छोटा भाई

Woh jashn manati hai sapne sajati hai Zindagi shor machati hai Aur maut dabe paanv khamoshi se chup chaap chali aati hai

Maut ke panje se zindagi ko chuda ni ki koshish Arey murkh maut to niyamat hai woh tujhe zindag ke panje se chudaye gi

Waqt ka kaam hai piche nahi mudna Aur yaadon ka kaam hai picha nahi chhodna

Mere marne ke baad meri laash ko gatar mein phenk dena Adami bhi janwar hai itna samajh lena