Latest Shayari

Posted On: 02-08-2021

Posted On: 02-08-2021

Posted On: 02-08-2021

बहुत ज़्यादा होगा भी तो क्या होगा , चुप रहने दो साहब नहीं तमाशा और होगा , मैं खामोश हू तो खामोश रहने दो , अगर बोल दिया तो तमाशा और होगा , यहॉ नए खिलाड़ी आ गए हैं बहुत , मैदान वही रहने दो नहीं तमाशा और होगा , हम जैसो पर चुपचाप पानी डालते रहो , कोई तड़प के मर गया तो तमाशा और होगा , मेरी बातों पर यकीन ना करो ना ही किसी को गौर होगा , मुझे चुप रहने दो साहब बोल दिया तो तमाशा और होगा, खैर भाई का छोटा भाई के लिखने से क्या होगा , चुप ही रहने दो साहब बोल दिया तो तमाशा और होगा...✍️ खैर छोड़ो....! ~भाई का छोटा भाई

Posted On: 29-07-2021

वाह रे इंसान , मुझे तो इंसान कहने में शर्म आती है , दुष्कर्म करने वाले दरिंदों की मौत क्यों नहीं हो जाती हैं , क्यों इनको दिखती नहीं मां बहन बेटियां , आखिर इनके घर कौन पकाता है रोटिया , वाह रे इंसान , मुझे तो इंसान कहने में शर्म आती है , आखिर इन निलज्जो कि शर्म कहां जाती है , इंसानियत तो रही नहीं इंसान में, इंसान ही तुले हैं दूसरे इंसान की जान में, वाह रे इंसान , मुझे तो इंसान कहने में शर्म आती है , आखिर इन बलात्कारियों को फांसी क्यों नहीं हो जाती हैं, क्यों नहीं बनाते हो नए कड़े कानून , दुष्कर्मीयों का सीधे कर दो खून, वाह रे इंसान , मुझे तो इंसान कहने में शर्म आती है , पर पता नहीं बलात्कारियों को अपनी मां बहन क्यो ध्यान नहीं आती हैं , इनको ऐसी मौत दो कि , दुष्कर्म करने की सोचने से पहले ही डर जाएं , बलात्कारी यही सोचे कि दुष्कर्म करने से अच्छा है मर जाए , वाह रे इंसान , ऐसे इंसान को लिखने में मेरी कलम शर्माई, अब इन दरिंदों को क्या लिखूं मैं भाई का छोटा भाई...✍️ ~भाई का छोटा भाई

Posted On: 26-07-2021

Posted On: 25-07-2021

Posted On: 25-07-2021

Posted On: 25-07-2021

आपकी नशीली यादों में डूबकर हमने इश्क की गहराई को समझा आप तो दे रहे थे धोखा💔 और हमने जानकर भी कभी आपको बेवफा न समझा।😭 💔 😢