Sad Shayari

Posted On: 02-02-2023

कभी कहते थे वो हम गेरों से नहीं देखो आज वो खुद गैर बनकर बैठे है।।

Posted On: 24-01-2023

मनमा बसेको छौ तिमि, तर आफ्नो बनाउनु कसरी, कहि टाढा जाउ तिमि, तिम्रो याद नआउने गरी ।

Posted On: 16-01-2023

Zamane Ne Hume Kuch Na Dia, Hum Zamane Ko Kya De, Gujarish he Bas itni Hume To De Unki Mohabbat, Warna Maut Bhi N De. By Bikas..

Posted On: 13-01-2023

تلخی مزاج سے آپ کے ختم ہوتی ہی نہیں کبھی انداز محبّت کے بدل کر بھی تو آئیے نا جناب کبھی

Posted On: 06-01-2023

जहा छोड़ कर गए थे वही छूटे जा रहे है। ऐसा नही मोती चमकते नही पर जितने चमकते है उतने टूटे जा रहे है। हम शांत है पर सवाल है मन के भवसागर जो बार बार कूद से पूछे जा रहे है? गलती क्या थी हमारी जो टूटे जा रहे है।। मयंक त्यागी

हमें तो कबसे पता था की तू बेवफ़ा है, तुझे चाहा इसलिए की शायद तेरी फितरत बदल जाये

गलत लोग तो सभी के जीवन में आते है, लेकिन सीख हमेसा सही ही देकर जाते है

Posted On: 13-12-2022

ki Mai nai maniya ossai bohat os bheed Mai Thai os k chahane wale bohat os bheed Mai tha kambhakt bs Mai he succhai Dil sai ossai chahane wala, phir b na Jane ossai Woh Ku passand Aaye is bheed mai

Posted On: 07-12-2022

🌸 बहुत फर्क है उसमे और मुझ में, वो मेरे प्यार को मजाक समझती है और में उसके मज़ाक को प्यार समझता हूं 🌺

Posted On: 20-11-2022

क्या करोगे तुम इस झूठी मुस्कान का जब अंदर खुद को तन्हा पाओगे. क्या करोगे तुम इस दिल का जब पहले से इसे टूटा पाओगे. क्या करोगे दीपक की रौशनी का जब जीवन में अन्धकार पाओगे. क्या करोगे इतनी दौलत का जब खुद को कब्र में पाओगे. आखिर करोगे क्या तुम जब लोगो को तुम पर हस्ता हुआ पाओगे.

Dusman jal rhe hai 😈 ki dusman jal rhe hai fir bhi ham chal rhe hai😈😈😈😈😈

Posted On: 23-09-2022

"दिनभर तुम याद आती हो"॥ "हर तरफ तुम -ही-तुम नज़र आती हो"॥ "करते हुए तुम्हे याद मेरी आंखें भर आती है"॥ "फिर अचानक तुम्हारी तस्वीर मेरी आंखों के सामने आ जाती है"॥

Posted On: 18-09-2022

Ye maut, ye kabr, ye janaaze, Sirf Baatein hain mere dost . Warna Mar to insaan tabhi jata hai jab use koi yaad krne wala na ho....💔

Posted On: 15-09-2022

अक्सर निकल जाता हूं रातों में, उन पुरानी गलियों में, उस खाली मकान को देखने।

Posted On: 11-09-2022

दुनिया को छोड़कर एक तुझे ही वे वजह अपनाया । फिर भी मैं तुझे सस्ता लगूं तो मैंने क्या पाया ।।