Best Quotes in Hindi

Best Quotes in Hindi, बेस्ट कोट्स इन हिंदी

Ready Best Quotes in Hindi, बेस्ट कोट्स इन हिंदी and also you can write best quotes on Shayari Books. This is public platform for you.

मेरे इश्क़ के चर्चे बहुत होंगे पर अफ़सोस तेरा जिक्र न होगा। हम होंगे तन्हाइयों में पर तुझे खोने का कोई गम न होगा। तू बेशक़ होगी हूर ज़माने की पर तेरे नसीब में फिर कोई महफ़िल न होगा। हम तो यू ही खमोश होंगे ज़नाज़े पर पर ज़माने में रौशन हमारा इश्क़ होगा।।

जंजीरों में जकड़ी हुई लफ्ज़-ए-सियाही को मिटा देना चाहती है आलम-ए आवाम फिर कहते हैं कि हिज्र-ए-बयानात का मौका नही मिलता || वो शायर |||

Dosti do sharir me rahnewali ek atma hai.

Aksar Achi Dosti Saste Mein Mill Jati Hai Aur Mahengi Dosti Matlabi Hoti Hai #HAPPY_FRIENDSHIP_DAY #SAGAR_R #BOXER🥊✍️

Ae dile naadan tu kar leta hai aitbaar sab par, Ye duniya teri hai par nahi bhi..!

ऐसे लोगों की इज्जत करें जो फुर्सत के लम्हों मैं आपसे बातें करते हैं, लेकिन ऐसे लोगों से प्यार करें जो फुर्सत निकालकर आपसे बातें करते हैं!

नज़र एक तुम पर ही रहि वर्ना नजारे लाख गुजरे है। इन आँखों के आगे से ••••••

MAA MAA WOH HOTHI HAI JO HAR BAATH SAMAJTHI HAI, WOH SAMAJTHI HAI ISILIYE HUMARI HAR GALTHI KO SUDHARTHI HAI, MAA WOH INSAAN HAI JO BHAGWAAN KA ROOP HOTHI HAI, MAA JABH APNE HAATHO SE KHILATHI HAI TOH HAR NIWALA BHOOK MITHATHA HAI, MAA JABH ROTHI HAI TOH HUMARI DUNIYA HIL JAATHI HAI, AUR JABH WOH HASTHI HAI HUMARI HAR TAKLEEF KHUSHI MEH BADAL JAATHI HAI, ZINDAGI KO KHUSHAL AUR ACHI MAA BANATI HAI, TOH MERE DOSTO MAA KI IZZAT KARO, KYUKI JIS DIN WOH NAH RAHI HUM NA RAHE. - DEEPESH JAIN

बंद किस्मत के लिये कोई ताली नही होती. सुखी उम्मीदों की कोई डाली नही होती, जो झूक जाए माँ -बाप के चरणों में ... उसकी झोली कभी खाली नही होती !!

Meri galti bs yhi thi ki maine har kisi ko khud se jyada Zaruri smjha......

Aj pareshan hoon Kal sakoon ka rooh ayega.. Khuda toh mera bhi hai Kab tak azmayega...

मोहबत-ए-जिदगीं के कुछ यूं सिलसिले हूए , हम उनके ओर वो किसी ओर के हूऐ| K.s

Posted On: 16-09-2019

andaaz badal jata hai baatein krne ka , jbb vo baat nhi krna chahte , khud bola lein to thik hai fir. varna hum bhi kisi ko aise nhi bulate.

फिदरते-ए-इंसान जहाँ जीवन का सम्मान है वहाँ इंसानियत का नाम है क्या रखा है फिजूल के झगड़ो में जब सादगी में भगवान हैं।।