Latest Shayari

नमामीशमीशान निर्वाणरूपं विभुं व्यापकं ब्रह्मवेदस्वरूपम्। निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहं चिदाकाशमाकाशवासं भजेऽहम्॥

तेरी मेरी जो नजर मिली हैं इसकी किसी को खबर न लगे देखता हूँ तुझे उस नजर से कि तुझको मेरी नजर न लगे

मेरी समझ से रेलवे को सारी ट्रेने बंद करके सिर्फ प्लेटफॉर्म टिकेट बेचने चाहिये। 😉

Posted On: 13-03-2021

जीना चाहा तो जिंदगी से दूर थे हम ! मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम ! सर झुका कर कबूल कर ली हर सजा! बस कसूर इतना था कि बेकसूर थे हम !!

पानी से तस्वीर कहाँ बनती है ! ख्वाबों से तकदीरकहाँ बनती है ! किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाओ ! ये जिंदगी फिर वापस कहाँ मिलती है !!

कुछ बूंदें तो गिरा प्यार की दिल जमीन पर, बड़ी आग लगी है दिल में सब कुछ लुटाकर। एहसान एक कर, मिला कर नजरों से नजर, कभी हकीकत में भी आ ख्वाबों से निकलकर।

सीने में जलन आँखों में तूफ़ान क्यों होता है, इस आशिकी में हर आदमी परेशान क्यों होता है।

अब बदल गई कॉलेज वाली चाल , बीत गए कॉलेज वाले साल , आज दिन भी आ गया तेरा महाकाल , वो दोस्त की गाथा कुछ इस प्रकार बताऊंगा , वह दोस्त नहीं कलेजा था मेरा , कलेजा भी काट के दिखाऊंगा , नाम उसका अंकित काम अनगिनत किया , जिस दिन मैं कॉलेज नहीं गया उस दिन मेरी अटेंडेंस दिया, कल दोस्त कि बातों से मुझे दिल से रोना आ गया , बोला कहां है मेरी किस्मत दोस्त मैं तो पैऱ से धोखा खा गया , वो देख रहा है सपना फौज का , और देशभक्ति का जुनून छाया हुआ है , क्या करेगा मेरा दोस्त भी एक पैर से वो मार खाया हुआ है, पर उस पर जुनून इतना बोला मैं करूंगा देश भक्ति , मैं बोला सब्र कर दोस्त भगवान में बहुत है शक्ति, लगन से मेहनत कर एक दिन तू जीत जाएगा , और ये जो अभी तेरे उपर हंसते है ना इनके लिए तू इतिहास बनाएगा , और जिद पकड़ ले तू एक बात की , पोस्टिंग आएगा तू भी मेरे साथ ही, इन हाथ की लकीरों पर विश्वास करना छोड़ दो, और अपनी मेहनत पर ध्यान दो जो बीच रास्ते में आए उसे तोड़ दो , मै यकीन दिलाता हूं दोस्त के 1 दिन कामयाबी चूम लेगी कदम तेरा , दोस्त यह भाई का छोटा भाई का वादा है मेरा...✍️ ~भाई का छोटा भाई

दो दिन कि मुहब्बत मे सारे खुशियो के लम्हें गुजर गऐ गम का ऐसा खन्ज़र मरा है कि दिल के कतरे बिखर गऐ इन कतरों को समैटते समैटते कबृस्तान आ गऐ

Posted On: 11-03-2021

कि आपनी तमाम खुशिया इकठ्ठी हो गई और आपने सारे दोस्तो की शादीयाँ हो गई तो क्यू ना सपना सजाते है शाँपिग मे वर माला खरीद लेते है तो क्यू ना हम भी शादी कर लेते है

मेरी आखरी साश पै तेरा ही नाम और होंटो पै तेरा ही जिकृ रह जाऐ और इस दिल ख्वहिंश पूरि हो जाऐ कि मेरी दम तेरी वाहो मे निकल जाऐ

हम जिन्हें देखकर जी रहें थे आज समझ आया कि वो मेरे इंतकाल से पहले कबृ का इंतजाम कर रहें थे

माँ बाप का होना भी किसी खजाने से कम नहीं है , अगर मां-बाप का सर पे हाथ है तो जिंदगी में गम नहीं...✍️ *~भाई का छोटा भाई*