Latest Shayari

Waqt mujh se khelta raha Mai waqt se khelta raha Hum dono umra bhar Ek dusrey se khelte rahe FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

Waqt mujh se khelta raha Mai waqt se khelta raha Hum dono umra bhar Ek dusrey se khelte rahe FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

Posted On: 24-07-2020

Mein Likhna Chahta Tha Tere Liye Magar Kuch Likhe Na Paya Mein Aur Kya Likhta Tere Liye Tu To Puri KITAB 📙 Thi Mere Liye #SAGAR_R #BOXER🥊✍️

Posted On: 24-07-2020

Insan Dudh🥛Se Nahi Uske Clour se Pyar Karta hai Dudh🥛Ko To Kabhi Chai ☕Banana Hi Hai Magar Chai ☕ Kabhi Dudh🥛Nahi Bann Sakta Chai Hamesha Chai Hi Rahega Qki Chai ☕Fake Nahi Hai Dudh🥛Fake Hota Hai #SAGAR_R #BOXER🥊✍️

पत्तियां उदास है कांटों में अब भी मिजाज़ है फूल कहां है मुझे उसकी तलाश है फ़कीर बादशाह साब (FAKEERA) Pattiyan udaas hai Kanton me ab bhi mijaaz hai Phool kahan hai Mujhe uski talash hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

एक तिली ही काफी है आग लगा ने को पर सागर भी कम पड़ता है आग बुझा ने को फ़कीर बादशाह साब (FAKEERA) Ek tili hi kaafi hai Aag lagane ko Par sagar bhi kam padta hai Aag bujhane ko FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

Jitne bhi harf hai sab se zyada tasir alif me hai Ya allaah tera naam lene wala har ek banda taqlif me hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

ज़िंदगी बनाने को वक़्त लगता है ज़माना लगता है मौत का क्या है मौत को तो बस बहाना लगता है फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Zindagi banane ko waqt lagta hai Zamana lagta hai Maut ka Kya hai Maut ko to bas Bahana lagta hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

आदमी उम्र भर मंसूबे घड़तां है पर वक़्त पल भर की महोलत नहीं देता है फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Adami umra bhar mansube ghadta hai Par waqt Pal bhar ki maholat nahi deta hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

दिल का ज़ख़्म अभी तक हर है आदमी अधूरा है कोई किसी के साथ नहीं मरता हर कोई अकेला ही मरा है फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Dil ka zakhm abhi tak hara hai Adami adhura hai Koi kisi ke saath nahi marta Har koi akela hi mara hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

आज डॉक्टर कहता है हमारे दिमाग का कोई इलाज नहीं कल ज़माना कहेगा फकीरा दी फ़कीर बादशाह साब आपका कोई जवाब नहीं फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Aaj doctor kahta hai Hamare dimaag ka koi ilaaj nahi Kal zamana kahenga FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB Apka koi jawaab nahi FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

जिसे भी फालतू और फुजूल बकवास सुननी हो वो जा सकता हैं गुलज़ार जावेद अख्तर या राहत इंदौरी की महफ़िल में ये दिल जलों की महफ़िल है यहां ज़ुबान पर भी वही आग है जो आग है दहेकते सिने में जो आग है सुलगते दिल में फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Jise bhi faaltu aur fuzool bakwaas Sunni ho Woh ja sakta hai gulzaar javed akhtar Ya rahat indori ki mehfil me Ye dil jalon ki mehfil hai Yahaan zubaan par bhi wohi aag hai Jo aag hai dahekte sine me Jo aag hai sulagte dil me FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

हमारी शायरी पड़ने सुनने से भी लोग डरते है हमारी शायरी आईना है उसमे हकीकत नजर आती है लोग हकीकत से दूर भागते है फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Hamari shayari padne sunne se Bhi log darte hai Hamari shayari aaina hai Usme haqeeqat nazar aati hai Log haqeeqat se dur bhagte hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

सच्चाई और मतलब से भरा हुआ होता है एक एक हरफ सारी दुनियां के शायर एक तरफ फकीरा दी फ़कीर बादशाह साब एक तरफ फ़कीर बादशाह साब ( FAKEERA) Sachchai aur matlab se Bhar huaa hota hai ek ek haraf Sari duniya ke Shayar ek taraf Fakeera the Fakir Badshah Saab Ek taraf FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB

हम सब कैदी है ये दुनिया कैदखाना है ना अपनी मर्झी से आना है ना अपनी मर्झी से जाना हैं फकिर बादशाह साब( FAKEERA) Hum sab kaidi hai Ye duniya kaid khana hai Na apni marzi se ana hai Na apni marzi se jana hai FAKEERA THE FAKIR BADSHAH SAAB