Latest Shayari

* तुमको लिखा * जो भी लिखा तुम्हें,कम लिखा तुमको खुशियां, खुद को गम लिखा खुद को कभी,तुम्हे हरदम लिखा खुद को ख़ंजर, तमको मरहम लिखा जितना भी लिखा तुमको,कम लिखा ।

#(5- अप्रैल शाम 9 बजे ,जब पूरा हिंदुस्तान दिया जला रहा है)# है बुझने को जिस्मे दिया यहां वो खुद अब रौशनी में जल रही होंगी तस्वीरें-कैद को अब,वो खूब मचल रही होंगी सूरज से सज़दे का हुनर तो जैसे आता ही नही उनको चंद तारों की बातों में अब वो बखूब फिसल रही होंगी

Posted On: 06-04-2020

Jana Aj Apne Apna Aaina Mujhe Dikha Diya Hai Ki Jise Tasvir Se Pyar Karta Tha Main Mujhe Kya Pata Tha Ushe Tasvir K Piche Mein Nahi Koi Aur Hoga Jise Tasvir Ko Mene Apna Samjha Wo Tasvir Kisi Aur Ka Aaina Tha

Posted On: 05-04-2020

Mujhe Likhne Ka Ab Mann Nahi Karta Hai (JANA) Likhunga V To Kiske Liye (JANA) Q Ki Ab To Meri (JANA) Hi Nahi Rahi Padne K Liye #II_MISS_YOU_JANA #JANA_S

Posted On: 04-04-2020

Tu rehti hain mere dil main Dimag main nehi Karti hu pyaar tumse Time pass k liya nehi

Mohabbat par itna gurur mat karna pyar karne walo😍😍kyuki taj mahal hamne dekha hai Mumtaz ne nahi.😞😞😞

Posted On: 04-04-2020

इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है, तुम बिछड गए हम बिख़र गए, तुम मिले नहीं और... हम किसी और के हुए नही। HANY LOVE MANY

Posted On: 04-04-2020

बेवफ़ाओं की महफ़िल लगेगी ऐ दिल-ए-जाना, आज ज़रा वक़्त पर आना मेहमान-ए-ख़ास हो तुम। HANY LOVE MANY

Posted On: 04-04-2020

ऐ दोस्त कभी ज़िक्र-ए-जुदाई न करना, मेरे भरोसे को रुस्वा न करना, दिल में तेरे कोई और बस जाये तो बता देना, मेरे दिल में रहकर बेवफाई न करना। HANUMAN

Posted On: 04-04-2020

उन्हें एहसास हुआ है इश्क़ का हमें रुलाने के बाद, अब हम पर प्यार आया है दूर चले जाने के बाद, क्या बताएं किस कदर बेवफ़ा है यह दुनिया, यहाँ लोग भूल जाते हैं किसी को दफनाने के बाद।

Posted On: 04-04-2020

अब उनको क्यों कसूरवार ठहरायें शायद हम ही उन्हें अपनी महोंबत का एहसास न दिल पाये!

Posted On: 04-04-2020

नजरें मिली प्यार हो गया, दिल मिला इकरार हो गया, मैं क्या बताऊँ यारो उनके बिना मेरा ज़िन्दगी बेकार हो गया।

Posted On: 04-04-2020

Kuchh yun khyalat hain... Tumhare bare mein... !! Eis jhuth bhari duniya mein... Eak sath tumhara sachcha hain.. Eak tum suchche ho... Eak tumhari bate suchchi hain.. Tumhari aankhe suchchi hain... Tumhara hausla suchcha hain.. Mujhe pane ka... !! Tumhara humse ruth jana... Mera tumse ruth jana... Eis jhuth bhari duniya mein... Eak jhagda tumhara suchcha hain... Khuchh yun khyalat hain... Tumhare bare mein... !! Jab tum mujhse kahte ho.. Sath khushi se rahne ki... Fir bhi mera ladna, tumse.... Tumhara manana mujhe..... Ye eak manana tumhara sachcha hain... Kuchh yun khyalat hain... Tumhare bare mein.... ! !

इक आधा बरष गुजरने को है, ये जिस्म बसर तन्हा मरने को है, है तूं चाँद किसी महफ़ूज छत की किसी की छत फ़क़त गिरने को है,

Posted On: 03-04-2020

Ishq Krna Asaan nhi jitna log samjhte hain💯💯 Phir Ishq krne Valo se log yuhi shikva krlete hain, Hum to mar not bhi jaye inke liye lekin hum aisi gustaakhiyaan unke liye nhi krte Jo Ishq Ka Kuch aur hi mayana samjh lete hain... ~~Haq Se Dixit❤️❤️💥💥