Love Shayari

Posted On: 15-05-2020

दुनियाँ में इतनी रस्में क्यों हैं, प्यार अगर ज़िंदगी है तो इसमें कसमें क्यों हैं, हमें बताता क्यों नहीं ये राज़ कोई, दिल अगर अपना है तो किसी और के बस में क्यों है

Posted On: 14-05-2020

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है प्यार करने वालों को क्यों बुरा मानते है जब जमाना ही पत्थर दिल है फिर पथर से लोग क्यों दुआ मांगते है

Posted On: 12-05-2020

ये मोहब्बत के हादसे अक्सर दिलों को तोड़ देते हैं ! तुम मंजिल की बात करते हो लोग राहों में ही साथ छोड़ देते हैं !

(_Love_Hindi_Shayari_) तू चाँद मैं सितारा होता, आसमान में एक आशिया हमारा होता। लोग तुझे दूर से देखा करते और सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता। #_Krishna Bc Dahal

Posted On: 11-05-2020

तेरी हर मीठी यादें मेरी आँखों में बसी हैं,” और ये तब तक रहेंगी,जब तक ये आँखे खुली हैं.sk.

Posted On: 08-05-2020

तुम को तो जान से प्यारा बना लिया; दिल का सुकून आँख का तारा का बना लिया; अब तुम साथ दो या ना दो तुम्हारी मर्ज़ी; हम ने तो तुम्हें ज़िन्दगी का सहारा बना लिया।

Posted On: 08-05-2020

दो बातें उनसे की तो दिल का दर्द खो गया, लोगों ने हमसे पूछा कि तुम्हें क्या हो गया, बेकरार आँखों से सिर्फ हँस के हम रह गए, ये भी ना कह सके कि हमें इश्क़ हो गया...।

Posted On: 08-05-2020

तुझे देखे बिना तेरी तस्वीर बना दूँ, तुझे मिले बिना तेरा हाल बता दूँ, मेरी मोहब्बत में इतना दम है कि, तेरी आँखों के आँसू अपनी आँखों से गिरा दूँ।

Posted On: 08-05-2020

दिल की हसरत मेरी जुबान पे आने लगी, तूने देखा और ये ज़िन्दगी मुस्कुराने लगी, ये इश्क़ की इन्तहा थी या दीवानगी मेरी, हर सूरत में सूरत तेरी नजर आने लगी।

Posted On: 08-05-2020

महफ़िल ना सही तन्हाई तो मिलती है, मिलना न सही जुदाई तो मिलती है, कौन कहता इश्क़ में कुछ नहीं मिलता? वफ़ा न सही बेवफाई तो मिलती है।

Posted On: 08-05-2020

सिर्फ सितारों में ही होती मोहब्बत अगर, तो इन अल्फाजों को खूबसूरती कौन देता, बस पत्थर बनकर रह जाता ताजमहल, अगर इश्क़ इसे अपनी पहचान ना देता।

Posted On: 08-05-2020

इश्क़ है अगर शिकायत न कीजिए..! और शिकवे हैं तो मोहब्बत न कीजिए..!!

Posted On: 07-05-2020

तेरे चेहरे को हम कभी भुला नहीं सकते, तेरी याद को कभी मिटा नहीं सकते ,आखिर में हमारी जान चली जाएगी, पर इस दिल में हम किसी और को बसा नहीं सकते!

Posted On: 07-05-2020

उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था, कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था, बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम, प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था…

Posted On: 06-05-2020

सूरत के साथ-साथ अगर सुंदर आचरण भी हो तो प्यार का मजा ही कुछ और है!