Romantic Shayari

महफ़िल से छू लो तो दाम बदल जाते हैं, ऑंखों से छू लो तो जाम बदल जाते हैं, ईश्क वो शमा़-परवी़न हैं मेरे दोस्त.... लबों से छू लो तो नाम बदल जाते हैं, और बातों से छू लो तो काम बदल जाते हैं ।।

Kisne dastak di dil par Kisne dastak di dil par ....aap Toh dil ke Andar ho....to ye bahar kon hai?

Aap apni jindagi se bhale hi khus na ho Lekin kuch loge ese bhi hai jo aap jesi jindagi jine k tarste hai

Posted On: 28-07-2017

मेरे आँखों के ख्वाब, दिल के अरमान हो तुम, तुम से ही तो मैं हूँ , मेरी पहचान हो तुम, मैं ज़मीन हूँ अगर तो मेरे आसमान हो तुम, सच मानो मेरे लिए तो सारा जहां हो तुम।

Posted On: 28-07-2017

तुझको देखा तो फिर किसी को नहीं देखा, चाँद कहता रहा मैं चाँद हूँ... मैं चाँद हूँ...।

Posted On: 28-07-2017

तेरे हर ग़म को अपनी रूह में उतार लूँ, ज़िन्दगी अपनी तेरी चाहत में संवार लूँ, मुलाकात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी, सारी उम्र बस एक मुलाकात में गुजार लूँ।

Posted On: 25-07-2017

तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चले कि इंतज़ार क्या होता है, यूँ ही मिल जाये अगर कोई बिना तड़पे, तो कैसे पता चले के.. प्यार क्या होता है|

Posted On: 25-07-2017

जो नजरो का हुआ मिलना लब तेरे भी मुस्कुराये थे, ईश्क के हर जूर्म में मेरे तेरी मोहोब्बत के साये थे, मेरी हर रात में सजनी तेरी सेजो के साये थे, रात को ख्वाब में मेरे ख्वाब तेरे मिलने आये थे।

Posted On: 25-07-2017

छलकते होठो से छू के, होठो को उन्होंने प्याला बना डाला, पास आई कुछ वो ऐसे.. जिन्दगी को उन्होंने मधुशाला बना डाला|

Posted On: 25-07-2017

उनका हाल भी कुछ आप जैसा ही होगा, आपका हाले दिल उन्हें भी महसूस होगा, बेकरारी की आग में जो जल रहे हैं आप, आपसे ज्यादा उन्हें इस जलन का एहसास होगा।

Posted On: 25-07-2017

कब तक वो मेरा होने से इंकार करेगा, खुद टूट कर वो एक दिन मुझसे प्यार करेगा, इश्क़ की आग में उसको इतना जला देंगे, कि इज़हार वो मुझसे सर-ए-बाजार करेगा।

Posted On: 25-07-2017

हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की, और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है, क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की!

Posted On: 25-07-2017

जब खामोश आँखो से बात होती है ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं पता नही कब दिन और कब रात होती है

Posted On: 25-07-2017

ये दिल किसी को पाना चाहता है, और उसे अपना बनाना चाहता है। खुद तो चाहता है ख़ुशी से धड़कना, उसका दिल भी धड़काना चाहता है। जो हँसी खो गई थी बरसों पहले कहीं, फिर उसे लबों पर सजाना चाहता है। तैयार है प्यार में साथ चलने के लिए, उसके हर गम को अपनाना चाहता है। मोहब्बत तो हो ही गई है अब तो.. पर, अब उसी से ही ये छिपाना चाहता है। ये दिल अब किसी को पाना चाहता है, और उसे सिर्फ अपना बनाना चाहता है।।