Inspirational Shayari

Work hard until you don't need to introduce yourself

नाम एक दिन में नहीं होता है ! पर एक दिन जरूर होता है !!

Kyu milte hai hr pal tanhai kaha gaye wo log jo kehte the may hu tmare parchai...

Toote Huwe Khawabon Ko Parakh Kar Dekho... Agar Himmat Hai Tou Khanjar Seenpe Pe Rakh Kar Dekho... Agar Ishq Ya Mohabbat Ka Aehsas Nhi Hai Tumhe... Apne Mehboob Ki Zulfon Mein Uljh Kar Dekho... Tumhe Zindagi Ka Asal Matlab Samjh Aajayega Ishq Mustafa Ki Aag Mein Sulagh Kar Dekho...

To master yourself how you make master in any thing 1. Professional knowledge 2. Professional competence 3. Ability to judge right or wrong 4. Loyalty 5. Sense of humar If you have these thing then you can make master or leader.

Successful people always have two things on their lips 1) silence 2) smile Because silence or smile can do every thing

जिन्दगी मे बस इतना सफल होना चाहता हू कि अगर कही जाऊ तो कही अपना introduction ना देना पडे।!

If you are fail never give up because F.A.I.L means first attempt to learning, END is not the end, infact never dies. if you get NO as an answer remember No means next opportunity so let's be positive.😊😊

A satisfied life is better then successful life because successful life is measured to others but satisfied life measured our own self mind and heart.

Wakt sahi nhi toh Kya ,wakt ko sahi karne ki takad Hain humme. Wakt rutha Hain humse to Kya, wakt ko manane ki adat hain humme.

* Failure will never overtake me if my determination to succeed is strong enough. * Hard work beats talent when talent doesn’t work hard. * Every great story on the planet happened when someone decided not to give up, but kept going no matter what.

What A Nice definition of "TODAY". T - This is an O - Opportunity to D - Do A - A work, better than Y - Yesterday.

तू रख हौसला वो मंजर भी आएगा प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा थक हार के ना रुकना ऐ मंजिल के मुसाफिर मंज़िल भी मिलेगी मिलने का मज़ा भी आएगा !!

बहन से कलाई पर राखी तो बँधवा ली, 500 रू देकर रक्षा का वचन भी दे डाला! राखी गुजरी, और धागा भी टूट गया, इसी के साथ बहन का मतलब भी पीछे छूट गया! फिर वही चौराहों पर महफिल सजने लगी, लड़की दिखते ही सीटी फिर बजने लगी! रक्षा बंधन पर आपकी बहन को दिया हुआ वचन, आज सीटियों की आवाज में तब्दील हो गया ! रक्षाबंधन का ये पावन त्यौहार, भरे बाजार में आज जलील हो गया !! पर जवानी के इस आलम में, एक बात तुझे ना याद रही! वो भी तो किसी की बहन होगी जिस पर छीटाकशी तूने करी !! बहन तेरी भी है, चौराहे पर भी जाती है, सीटी की आवाज उसके कानों में भी आती है! क्या वो सीटी तुझसे सहन होगी, जिसकी मंजिल तेरी अपनी ही बहन होगी? अगर जवाब तेरा हाँ है, तो सुन, चौराहे पर तुझे बुलावा है! फिर कैसी राखी, कैसा प्यार सब कुछ बस एक छलावा है!! बन्द करो ये नाटक राखी का, जब सोच ही तुम्हारी खोटी है! हर लड़की को इज़्ज़त दो , यही रक्षाबंधन की कसौटी है!

अगर रास्ता खूबसूरत है तो, पता कीजिये किस मंजिल की तरफ जाता है ! लेकिन अगर मंजिल खूबसूरत हो तो, कभी रास्ते की परवाह मत कीजिये !! मेहनत का फल और समस्या का हल देर से ही सही मिलता जरूर है..