Latest Shayari

काश रोज डे , प्रपोज डे,चॉकलेट डे, की तरह कोई रोटी डे भी होता , तो कोई बच्चा भूखा नहीं सोता....✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

आशिकों के लिए रोज💐 डे और अखंड सिंगलों (मतलब मेरे दोस्तों) के लिए सन डे की हार्डिक बधाई.....📝 ~भाई का छोटा भाई

अपना एक ही सपना है, मां-बाप का सपना पूरा करना.....✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

Posted On: 06-02-2021

Beautiful-shayari

मुस्कुराते चाँद को ताकना होगा , आज फिर रात भर जागना होगा....✍️ *#क्या सोच रहे हो कमीनो duty है मेरी* ~~भाई का छोटा भाई~

अंदर ही अंदर मेरे दोस्त को फिक्र खाए जा रहा है, वो टूट कर भी अपनी मोहब्बत को चाह रहा हैं....✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

कोई मुझे बताएगा क्या कहना है, दुनिया मुझसे पूछती है दुखी क्यू है....✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

Roshni se andhere mein aa gaye Insaaniyat chod kar dharm mazhab ke ghere mein aa gaye

Nazar utha kar bhi nahi dekhta hai woh aaj kal irfaa Na jaane woh kis baat par mujh se sharma ta hai

Waqt ki yahi khasiyat hai irfaa Woh bina bataye hi badalta hai

Aaj wohi shakhs dur bhagta hai humse irfaa Jo kabhi humse milne ko taras ta tha

Jo iss duniya ko nahi samajh pata hai woh rota hai irfa Aur jo samajh jata hai woh bahot zyada rota hai

अपनों के "साजिश" पे शर्मिंदा हूं , गैरों की तस्सली से अभी मैं जिंदा हूं....✍️ ~~भाई का छोटा भाई~

दिनांक02/02/2021 मंगलवार ~भाई का छोटा भाई Dear god मै आपको चिट्ठी लिखना तो नही चाहता था लेकिन जिंदगी की ऐसी लगी पड़ी है कि लिखने पर मजबूर कर दिया,मै उम्मीद करता हू कि स्वर्ग लोक मे आप मजे से होगे,वही मजा थोड़ा धरती वासी को भी दे दीजिए,यहा काफी तक़लीफ़ में जीवन काट रहा है सोचता कुछ हूँ होता कुछ है....📝

Woh mahnat kash bahadur kisaan mazdur sachcha hai Usko na sata Woh gareeb bad naseeb maa ka majbur bachcha hai