Latest Shayari

Posted On: 28-03-2021

जवानिओं में जवानी को धुल करते हैं जो लोग भूल नहीं करते, भूल करते हैं अगर अनारकली हैं सबब बगावत का सलीम हम तेरी शर्ते कबूल करते हैं

Posted On: 28-03-2021

Posted On: 27-03-2021

चले भी आओ भुला कर सभी गिले-शिकवे बरसना चाहिए होली के दिन विसाल का 🦡🦡🦡🌺🌺Happy Holi 🌺🌺🦌🦌🦌

Posted On: 27-03-2021

प्रेम प्रतीतहि कपि भजै, सदा धरैं उर ध्यान । तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्घ करैं हनुमान !! #जय_श्रीराम🌹🌹🌹

Posted On: 27-03-2021

ताज़ा उतराई @kvKutir 😜😍 “शहतूत की शाख पे बैठा कोई बुनता है रेशम के तागे  लम्हा-लम्हा खोल रहा है, पत्ता-पत्ता बीन रहा है...!” (गुलज़ार)

Posted On: 27-03-2021

*अजीब सा डर का माहौल है दुनियाँ में*.... *अमीर को कोरोना का डर है*............ *और गरीब को लॉकडाउन का* !! 😷😪🤔 #COVID19

Posted On: 27-03-2021

यही सोच कर हर तपिश में जलती आई हूँ। कि धूप कितनी भी तेज हो समंदर नहीं सूखा करते। ❤️❤️

Posted On: 27-03-2021

जब तक चाँद चमकता होगा, नीलगगन की बाँहों में तब तक फूल सितारे होंगे, आपके साथ पनाहों में जब तक सूर्य दमकता होगा, आसमान की राहों में तब तक आप जियेंगे ऐसे, जैसे फूल बहारों में.🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

Posted On: 26-03-2021

✍️....मेरे अल्फ़ाज़💕 धूप में तपता कभी न थकता ठंड में ठिठुरता कभी न गिरता, बारिश में भीगता कभी न हारता, वो एक इंसान हूँ मै... हर भावनाओं को मार के मन मैं, निरंतर खड़ा रहा रहता हूं मैं, अपनी खुशियों के पलों को , सीने में दफ्न कर डिगा हूं ।मैं वो एक इंसान हूँ मै... काम आ गया तो अच्छा हूँ मैं काम न आया तो बुरा हूं मैं, नज़रो में चढ़ा तो कभी उतरा हूँ मै, वो एक इंसान हूँ मैं... कोई घर की भड़ास निकाले, कोई मन की भड़ास निकाले, फिर अपने जगह पर खड़ा हूँ मै.. वो एक इंसान हूँ मै... क्या दिन और क्या पहर हर हालात से लड़ता हूँ मै.. कभी खुशी तो कभी तपन हर पहलुओं से गुज़रा हूँ मैं... वो एक इंसान हूँ मै... दफन कर ख्वाहिशो को सीने में नित्य दिन फ़र्ज़ निभाता हूँ मैं बिना गलती के कर्ज चुकाता हूँ मै वो एक इंसान हूँ मैं... कर हौसलो को बुलंद मन मै एक उम्मीद लगाए बैठा हूँ मै आएगा एक दिन नया सवेरा ये आस लगाए खड़ा हूँ मैं.... वो एक इंसान हूँ मैं....

Posted On: 26-03-2021

🇳🇪🇳🇪सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ , वो ज़िंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली ..🐦🐦

🇲🇾🇳🇪सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ , वो ज़िंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली ..🇺🇸🇳🇪

ek khusi ki chahat me har khushi se dur huein hum kuch bhi na kah sake hum itne majboor huein hum na ai unhe nibhane wafa ishq ae daur me aur jamaane ke nazar me bewafa ke naam se mashhoor hue hum😘😘😘

🌷🌷🌷सुप्रभात 🌷🌷🌷 🌹🌹🌹जय श्री कृष्णा 🌹🌹🌹