Latest Shayari

शहंशाही नहीं ईसानियत अदा कर मेरे मौला, मुझे लोगो पर नहीं दिलो पर राज करना है…......!!!

तुझमे और मुझमे फर्क है सिर्फ इतना, तेरा कुछ कुछ हूँ मैँ, और मेरा सब कुछ है तू…..!!!

तू मेरे दिल पे हाथ रख के तो देख, मैं तेरे हाथ पे दिल ना रख दूँ तो कहना.......!!!

दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते यारो, एक जान है जब दिल चाहे मांग लेना......!!!

तुम जुआरी बड़े ही माहिर हो, एक दिल का पत्ता फेक कर जिदंगी खरीद लेते हो......!!!

कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी, एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी….....!!!

शौक नहीं है मजबूरी है दोस्त सुना है शराब सारे गम भुला देती है या तो रुला देती है या फिर सुला देती है ||

नफरत भी हम हैसियत देख कर करते है, प्यार तो बहुत दूर की बात है........!!!

मुझे एक ने पूछा "कहा रहते हो" मैंने कहा "औकात मे" साले ने फिर पूछा "कब तक" मैंने कहा "सामने वाला रहे तब तक"..........!!!

दादागिरी तो हम मरने के बाद भी करेंगे, लोग पैदल चलेंगे और हम कंधो पर…...!!!

तेरी मोहब्बत को कभी खेल नही समजा, वरना खेल तो इतने खेले है कि कभी हारे नही….!!!

अंदाज़ कुछ अलग ही मेरे सोचने का है, सब को मंज़िल का है शौख मुझे रास्ते का है.......!!!

शब्द पहचान बनें मेरी तो बेहतर है, चेहरे का क्या है, वो मेरे साथ ही चला जाएगा एक दिन…..!!!

नमक स्वाद अनुसार, अकड औकात अनुसार.......!!!

ऐसा नही है कि मुझमे कोई 'ऐब' नही है, पर सच कहता हूँ मुझमें कोई 'फरेब' नहीं है........!!!