Latest Shayari

Dost mile bichad gaye.. Us waqt main raste badal gaye... Badalti sawarti thi kismat roj meri... Un dinoon baarish hoti thi dost Meri.. Beega kar jo mere aansoo chupa jati thi.. Wo dost meri 12/06/16, 23:29

Dost mile bichad gaye.. Us waqt main raste badal gaye... Badalti sawarti thi kismat roj meri... Un dinoon baarish hoti thi dost Meri.. 12/06/16, 23:29

Posted On: 09-08-2019

बिकता है गम इश्क के बाज़ार में, लाखों दर्द छुपे होते हैं. एक छोटे से इंकार में, हो जाओ अगर ज़माने से दुखी, तो स्वागत है हमारी दोस्ती के दरबार में.”

Posted On: 09-08-2019

सबकी ज़िन्दगी में खुशिया देने वाले, मेरे दोस्त की ज़िन्दगी में कोई गम न हो. उसको मुझसे भी अच्छे दोस्त मिले, अब इस दुनिया में हम न हो.”

Posted On: 09-08-2019

गुनाह करके सजा से डरते है, ज़हर पी के दवा से डरते है. दुश्मनो के सितम का खौफ नहीं हमे, हम तो दोस्तों के खफा होने से डरते है.”

Posted On: 09-08-2019

“दोस्त को भूलना ग़लत बात है. उन्ही का तो जिंदगी भर साथ है. अगर भूल गये तो सिर्फ़ खाली हाथ है, अगर साथ रहे तो ज़माना कहेगा-‘क्या बात है'”

Posted On: 09-08-2019

दिन बीत जाते है सुहानी यादें बनकर, बाते रह जाती है कहानी बनकर, पर दोस्त तो हमेशा दिल के करीब रहते है, कभी मुस्कान तो कभी, आँखों का पानी बनकर।

Posted On: 09-08-2019

कहीं अंधेरा तो कहीं शाम होगी, मेरी हर ख़ुशी तेरे नाम होगी, कभी मांग कर तो देख हमसे ए दोस्त, होंठो पर हसीं और हथेली पर जान होगी।

Posted On: 09-08-2019

लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है , लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है, लोग दुनिया मे दोस्त देखते है, हम दोस्तो मे दुनिया देखते है।

वो भुल गये की उन्हे हँसाया किसने था, जब वो रुठते तो मनाया किसने था, आज वो कहते है कि मे बहुत खुबसुरत हू, शायद वो भुल गये की उन्हे ये बताया किसने था🌹🌹

हर बार मुकद्दर को कुसूरवार कहना अच्छी बात नहीं , कभी कभी हम उन्हें मांग लेते है जो किसी और के होते है …….!!🙄

शक का कोई ईलाज नहीं होता, जो यकीं करता है कभी नराज नहीं होता, वो पूछते है हमसे कितना प्यार करते हो, उन्हे क्या पता मोहब्बत का हिसाब नहीं होता..|

वो बात करते हैं हमसे दूर जाने की हम कोशिश करते हैं उन्हें अपना बनाना की हर घडी इच्छा रहती है उन्हें बुलाने की फिर वो क्यों कोशिश करते हैं हमे रुलाने की।

जीवन* में आपसे *कौन मिलेगा,* ये *समय* तय करेगा. *जीवन* में आप *किस से मिलेंगे,* ये आपका *दिल* तय करेगा *_परंतु_* *जीवन* में आप किस-किस के *दिल* में बने रहेंगे, यह आपका *व्यवहार* तय करेगा.