Latest Shayari

ᴍᴀɪɴ ᴛᴜᴍsᴇ ɪᴛɴᴀ ᴘʏᴀᴀʀ ᴋᴀʀᴛᴀ ʜᴏᴏɴ ᴋɪ❤️..... ᴛᴜᴍᴀʜʀᴇ ɴᴀᴀᴍ ᴋᴀ ᴋᴏɪ.... ʙʜɪ ᴍɪʟ ᴊᴀᴀʏᴇ ᴛᴏʜ..... ᴀᴀᴊ ʙʜɪ ᴍᴇʀᴀ ᴅɪʟ ᴅʜᴀᴅᴀᴋ ᴊᴀᴀᴛᴀ ʜᴀɪɴ. Mohd.Ehteshaam.Amman✍️

Posted On: 21-10-2019

Posted On: 20-10-2019

Muskurahat ke peechhe ka raaz tum ho, jo padhti hu roz woh nwaaz tum ho, gungunati hu jo main khud likh kar, uske peechhe ki jaan meri awaaz tum ho.....

कांटा चुभता हैं तो चलने नही देता । और जब किसी का दिल टूटता है तो जीने नहीं देता कांटा _ दिल का‌ हाल कुछ एक सा‌ ही है । कांटा चुभता हैं तो दिखता नहीं है और दिल टूटता है तो दिखता नहीं है। और दिल के जखम नासूर बनके दिल में कांटे की तरह चुभते है और जीना दुश्वार हो जाता और दिल में उसकी यादें कांटे की तरह चुभती हैं कांटा दिखता नहीं है और मेरा दिल उसके सिवा किसी से लगता नहीं है।‌‌‌

Posted On: 16-10-2019

dil ke armaan aasu vo beh gaye dil ke armaan aasu vo beh gaye dil ke baat khane se pehle pent me su kar ke beth gaye 🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣

Posted On: 14-10-2019

Tum mera ho my darling

मुख परस्ती से क्या हमें अब आजाद कर दोगे, मैं कुछ लाया हूं घर से क्या तुम स्वाद भर दोगे। अरविंद जिद्दत से चाहा है तुझे बदलते जमाने में, मुझे जीना या मरना है क्या यही इंसाफ कर दोगे।।

हर खुशनुमा माहौल को तुम शबनम-ए-शाम मत कहना, कहीं मिल जायो जो धोखा उसे प्यार का अंजाम मत कहना। हर शख्श की एक ही चाहत है कुछ अच्छा पा लूँ इस जहाँ में, चुपचाप अपना लेना गमों को मौत को सलाम मत कहना।।

क्या दू में अपने चाहत का नजराना फकीर जो तूने बना दिया एक दिल बचा है इस सीने में ला खंजर दू निकाल मै तेरी हथेली पे

कास में समंदर की लहरें होता और तू होती गंगा की धारा प्यास बुझाने को तू मेरी छोड़ आती अपना किनारा जो तू कर ले निश्चय खुद से खुद में मिलने को क्या हस्ती खड़ा हिमालय रोक सके तुझको आ भर दे तू मुझको उतर मेरी गहराई में तू मेरी भरने की वजह बन मैं बनू तेरा किनारा आ बुझा जा तू मेरे प्यास को ले अपने प्रेम रस धारा काश मैं समंदर की लहरें होता और तुम होती गंगा की धारा

दोस्तों की महफिल में बैठे हम सारे गम भुला गए गिरते थे जो हम हाथ पकड़ संभलना सिखा गए वह दोस्त ही तो थे जो हमें वह जीना सिखा गए पीते थे खुद ओ बियर हमको सोडा पिला गए पार्टी तो देते थे अपने नाम के पर बिल हमारे नाम पड़ गए लगा जो चोट मुझे कभी दर्द उनको होता था रोता हूं जो मैं कभी उनकी आंखों से आंसू बहता था ए दोस्त तो ही है जो हमको गमों में हंसना सिखा गए

Posted On: 11-10-2019

इतना नशा कहां है इन मयखानों में, जितना नशा है उसकी आँखों के पैमानों में | - Jayy Gosvammi

Posted On: 08-10-2019

Tum mujhe chodd gaye is baat ka mujhe gum nahi, Aaj bhi anshoo meri aankho mai kam nahi. Tum to jeelo ge mere bina, Tum to jeelo ge mere bina. Mager tumhare bina hum nahii...